विशाखापटनम में 7 मई की सुबह-सुबह एक फैक्ट्री से गैस रिसाव हुआ. देखते ही देखते शहर में अफरातफरी मच गई. जब प्रशासन हालात संभालने में जुटा था, उसी वक्त सुरेश नाम का सब्जीवाला एक अलग ही कैम्पेन में जुटा हुआ था. दरअसल, गैस लीक की वजह से मची भगदड़ के बीच सुरेश को एक बच्ची मिल गई.

टाइम्स ऑफ़ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक़, सुबह करीब 5 बजे कल्ला सुरेश ने पांच साल की सुचरिता को देखा. एलजी पॉलीमर्स, आरआर वेंकटपुरम की ओर जाने वाली सड़क पर. बच्ची अकेली थी. ऐसे में सुरेश उसे उठाकर नज़दीकी एसआरएस हॉस्पिटल लेकर गए. अस्पताल में बच्ची का चेकअप हुआ, तो पता चला कि उस पर गैस का असर नहीं हुआ था.

इसके बाद सुरेश उसे अपने घर लेकर गए. और सुचारिता के परिवार को ढूंढने की मुहिम शुरू की. उसकी फोटो लेकर उसे सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया बच्ची की डिटेल देने के साथ-साथ अपना नाम-नंबर भी पोस्ट किया. इसके बाद सुरेश के पास कई फोन कॉल आए. आखिर में सुरेश की सुचारिता के पेरेंट्स से बात हुई. और उन्होंने बच्ची को उन्हें सौंप दिया.

घटना के वक्त बच्ची वेंकटपुरम में अपनी दादी के घर पर थी. 7 मई को बच्ची अपनी मां और चाचा के साथ बाहर गई हुई थी. गैस लीक को लेकर पैनिक और कन्फ्यूजन के बीच वह लापता हो गई थी.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें