दिसंबर, 2019 में चीन के वुहान शहर से कोरोना वायरस फैलने की शुरुआत हुई थी. 76 दिन शहर लॉकडाउन में रहा. अपनी स्थिति को कुछ ठीक किया. फिर अप्रैल के पहले हफ्ते से वापस थोड़ा काम-काज शुरू हुआ. लेकिन अब, लॉकडाउन खुलने के करीब महीनेभर बाद वुहान से फिर कोविड-19 के पांच नए केस सामने आए हैं. ये पांचों केस वहां की एक ही रेज़िडेंशियल सोसायटी से हैं.

रॉयटर्स के मुताबिक, इनमें से दो लोग तो पति-पत्नी ही हैं. दो दिन पहले 89 साल के पति की रिपोर्ट पॉज़िटिव आई थी. फिर टेस्ट किया गया तो पता चला पत्नी भी कोरोना इंफेक्टेड हैं.

नए केस आने के बाद वुहान हेल्थ अथॉरिटी ने स्टेटमेंट जारी किया. कहा –

“महामारी को रोकने का काम बहुत भारी होता है. ये लगातार जारी है और ज़ाहिर सी बात है कि अभी हमारा फोकस इसी बात पर है कि कोरोना वायरस को शहर में वापसी करने से कैसे रोका जाए.”

सारे केस एसिम्प्टोमेटिक

वुहान में ये जो लेटेस्ट केस मिले हैं, सारे एसिंप्टोमेटिक हैं. यानी ऐसे मरीज़, जिनमें कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं थे. लेकिन वो इंफेक्टेड थे. दूसरों को इंफेक्शन भी फैला रहे थे. जब टेस्ट किया गया, तो कोरोना पॉज़िटिव पाए गए. चीन में सरकारी गिनती के मुताबिक, अब तक कोरोना वायरस के 82 हज़ार से ज़्यादा केस आए हैं. 4,633 लोगों की मोत हो चुकी है.

शंघाई में डिज़्नीलैंड भी खुल गया

हालांकि चीन की सरकार अब कम्प्लीट लॉकडाउन के मूड में नहीं लग रही है. साफ कह दिया गया है कि लॉकडाउन में जिन भी चीज़ों पर बंदी थी, उन्हें अब कोरोना प्रोटोकॉल्स का पालन करते हुए धीरे-धीरे खोला जाएगा. वुहान में हायर एजुकेशन के इंस्टीट्यूशंस खोले गए हैं. शंघाई में डिज़्नीलैंड के भी कुछ सेक्शन्स खोल दिए गए हैं.

शुलान शहर में लॉकडाउन लौटा

चीन का ही एक शहर है- शुलान. जैसे हमारे देश में रेड ज़ोन हैं, वैसे ही चीन में हाई-रिस्क एरिया बनाए गए थे. अभी पूरे देश में एक ही हाई रिस्क एरिया है- शुलान. शुलान और उसके आस-पास की जगहों से 10 मई को तीन केस आए. यहां छह लाख की आबादी है, जिस पर वापस लॉकडाउन लगा दिया गया है. शहर में फिर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग शुरू हो गई है. शुलान के मेयर जिन हुवा ने कहा है-

“We are in a War Time.”

source:-the lallantop

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें